रोमिंग जर्नलिस्ट

गुरुवार, 22 दिसंबर 2011

 
उत्तर में घोटाले करती मायावती महान है
दक्षिण में राजा-कनिमोझी करुणा की संतान है.
जमुना जी के तट को देखो कलमाडी की शान है
घाट-घाट का पानी पीते चावला की मुस्कान है.
देखो ये जागीर बनी है बरखा-वीर महान की
इस मिट्टी पे सर पटको ये धरती है बेईमान की.
बन्दों में है दम...राडिया-विनायकम्.
ये है अपना जयचंदानानाज़ इसे गद्दारीपे.
इसने केवल मूंग दला है मजलूमों की छाती पे.
ये समाज का कोढ़ पल रहासाम्यवाद के नारों पे
बदल गए हैं सभी अधर्मी भाडे के हत्यारे में .
हिंसा-मक्कारी ही अब,पहचान है हिन्दुस्तान की
इस मिट्टी पे सर पटको ये धरती है हैवान की.
बन्दों में है दम...राडिया-विनायकम्.
देखो मुल्क दलालों काईमान जहां पे डोला था.
सत्ता की ताकत को चांदी के जूतों से तोला था.
हर विभाग बाज़ार बना थाहर वजीर इक प्यादा था.
बोली लगी यहाँ सारे मंत्री और अफसरान की.
इस मिट्टी पे सर पटको ये धरती है शैतान की.
बन्दों में है दम...नंगेबेशरम....!

3 टिप्‍पणियां:

PRITI ने कहा…

"मादरे वतन का मरतबा नहीं जानते ....

चंद सिरफिरे मिट्टी को माँ नहीं मानते"
..........................

"जाटदेवता" संदीप पवाँर ने कहा…

य़ह फ़ोटॊ देख कर कपिल सिब्बल आपके पीछे पड जायेगा

sionhakumara@gmail.com ने कहा…

kadvahat kuchh zyada hai....per Desh ki jo haalat hai toh gussa poora-poora jayaz hai...chhand bhee sahi mil raha hai.....!sinhakumara.

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.